How Does Make Career In Graphology (ग्राफोलॉजी) In Hindi - All You Wanna Know In Hindi By Shubham Chauhan

How Does Make Career In Graphology (ग्राफोलॉजी) In Hindi



नौकरी के लिए लेखन बहुत मायने रखता है। आज सोशल नेटवर्किंग साइट के जरिये लोग अपने रचनात्‍मक लेखन से रोजगार के नए मौके बना रहे है।

लेखन में है दम, तो तरक्की हर कदम

अमेरिकी लेखक और दर्शनशास्‍त्र के प्रोफेसर विलियम एच.गस के अनुसार, वास्‍तविक रसायन बनाने वाला केवल लेड यानी मरकरी को सोने में नही बदलता, बल्कि विश्‍व को शब्‍दो में परिवर्तित करता है। कहने का आशय यह है कि आप चाहें कोई भी काम कर रहे हों, उसे अगर ठीक से शब्‍दों में व्‍यक्‍त नहीं कर पा रहे है, तो सब व्‍यर्थ है। जब आप किसी नौकरी तलाश करते है, तब आप विभिन्‍न कंपनियों में सीवी और कवर लेटर भेजते है। अगर आपका कवर लेटर आकर्षक ढंग से लिखा है, आपके नौकरी मिलने के आसार बढ जाते है। कार्यस्‍थल पर सभी कार्य लिखित माध्‍यम से होते है फिर वह चाहे ई-मेल हो या फिर कोई राइटिंग। ऐसे में बेहतर लिखने वाले बाजी मार जाते है।

1. आपकी सफलता 5%  शिक्षा 15% अनुभव और 80% कम्‍युनिकेशन पर निर्भर है।
2. 45 फीसदी लोगों को लिखित कम्‍युनिकेशन के आधार पर नौकरी मिलती है।

क्‍या है ग्राफोलॉजी????

हैंड राइटिंग के विश्‍लेषण का अध्‍ययन करने वाले विज्ञान को ग्राफोलॉजी कहते है। वैज्ञानिक सीजोफीनिया, उच्‍च रक्‍तचाप जैसी बीमारियों की पहचान हस्‍तलेखन से ही करते है।

शख्सियत के राज खोलता है लिखने का अंदाज

आप शायद ही यह जानते हो, लेकिन आपकी हैंडराइटिंग यानी हस्‍तलेखन से आपके व्‍यक्तित्‍व के कई अनकहे पहलुओं को समझा जा सकता है। जिन व्‍यक्तियों के हस्‍ताक्षर पढने योग्‍य होते है, वे व्‍यक्ति बहुत आत्‍मविश्‍वासी और सहज होते है, वहीं जिन व्‍यक्तियों के हस्‍ताक्षर अपठनीय होते है, वे गुप्‍त प्रवृत्ति के होते है और उन्‍हें समझना मुश्किल होता है। जो व्‍यक्ति छोटे अक्षर लिखते है, वे बेहद शर्मीले, केंद्रित, सतर्क और पढाकू प्रवृत्ति के होते है। बडे अक्षर लिखने वाले व्‍यक्ति स्‍पष्‍टवादी और दूसरों को ध्‍यान आकर्षित करने वाले होते है। अक्षरों के बीच जगह देने वाले व्‍यक्ति अकेले रहने से कतराते है, वहां अक्षरों के बीच अधिक देने वाले व्‍यक्ति आजाद और अकेले रहना ज्‍यादा पसंद करते है। ज्‍यादा दबाव के साथ लिखने वाले व्‍यक्ति अपनी वचनबद्धता और त्‍वरित प्रतिक्रिया के लिए जाने जाते है और हल्‍के दबाव से लिखने वाले व्‍यक्ति थोडे संवेदनशील और सहानुभूति वाले होते है, जिनमें उत्‍साह की कमी होती है।

How Does Make Career In Graphology (ग्राफोलॉजी) In Hindi How Does Make Career In Graphology (ग्राफोलॉजी) In Hindi Reviewed by Shubham Chauhan on 3:22 pm Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.