A Ads

Plant Protein Vs Animal Protein In Hindi

Share:


Plant Protein Vs Animal Protein Kya Jaruri Hain?



एनिमल या प्‍लांट प्रोटीन, ज्‍यादा जरूरी क्‍या?? 

प्रोटीन को खानपान में शामिल करना जरूरी है। हो सकता है आप हर दिन दाल, हरी सब्जियों, दूध, मछली, चिकन का सेवन करते हों, लेकिन कौन सा प्रोटीन आपको अधिक लाभ देगा, यह भी जानना जरूरी है।

आप प्रतिदिन अपने खानपान में सब्‍जी, दाल, दूध, अंडा, चिकन आदि शामिल करते है। क्‍या कभी इस बात पर गौर करते है कि किसमें प्रोटीन की मात्रा अधिक है?  ण्‍निमल प्रोटीन बेहतर है या प्‍लांट प्रोटीन?  प्रोटीन मांसपेशियों और शारीरिक विकास के लिए जरूरी है। हाल के वर्षो में इस विषय पर कई शोध भी हुए है कि वेजीटेबल प्रोटीन जैसे बींस, नट्स और सोया अधिक फायदेमंद है या फिर एनिमल प्रोटीन जैसे चिकन, मछली या मटन। कुछ विशेषज्ञों की राय में सभी प्रोटीन एक समान होते है, चाहें वह एनिमल प्रोटीन हो या प्‍लांट प्रोटीन। न्‍सूट्रिशनिस्‍ट का कहना है कि शरीर में प्रोटीन की एब्‍जॉर्प्‍शन क्षमता को देखना जरूरी है। उसी आधार पर इसका सेवन करना चाहिए। एनिमल प्रोटीन प्‍लांट प्रोटीन के मुकाबले शरीर में जल्‍दी एब्‍जॉर्ब हो जाता है। चिकन, मछली में प्रोटीन भी अधिक मात्रा में होता है। साथ ही एनिमल प्रोटीन की वेरायटी ज्‍यादा है। जो मांसाहारी है, उन्‍हें अंडा, चिकन, मछली का सेवन अवश्‍य करना चाहिए।
1.
2.
3.
4.

5.
ऐसा भी नहीं शाकाहारी लोग प्रोटीन के सेवन से वंचित रह जाते है। सोयाबीन, दालें आदि प्रोटीन से भरपूर होती है। ऐसे में शाकाहारी लोगों को इन्‍हें अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए । दाल-चावल पूरी तरह से प्रोटीन युक्‍त भोजन है। अधिकतर मजदूर वर्ग दाल-चावल ही खाते है। उनकी मांसपेशियां तभी मजबूत नजर आती है। उनकी मांसपेशियां तभी मजबूत नजर आती है। जिन्‍हं यूरिक एसिड व किडनी से संबंधित समस्‍याएं है, उन्‍हें प्रोटीन का सेवन कम करना चाहिए। बच्‍चों को दोनों ही प्रोटीन की आवश्‍यकता होती है, क्‍योकि ये शरीरिक विकास के लिए जरूरी है। प्‍लांट प्रोटीन में एनिमल प्रोटीन के मुकाबले कोलेस्‍ट्रॉल और सैचुरेटेड फैट काफी अधिक होता है, जो कार्डियोवैस्‍कुलर बीमारी को बढा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं