Accessory Fashion Designer Career In Hindi - All You Wanna Know In Hindi By Shubham Chauhan

Accessory Fashion Designer Career In Hindi

एक्‍सेसरीज में करियर का सफल एक्‍सेस

स्‍टाइलिश दिखने के लिए हर कोई फैशन के साथ-साथ एक्‍सेसरीज को भी महत्‍व देने लगा है। ऐसे में एक्‍सेसरीज डिजाइनर्स की मांग लगातार बढ रही है, लेकिन सफल एक्‍सेसरी डिजाइनर बनने के लिए आपका क्रिएटिव होना जरूरी है।
इस फैशन-परस्‍त दुनिया में हर कोई स्‍टाइलिश दिखना चाहता है। स्‍टाइलिश दिखने के लिए लोग ट्रेंडी ज्‍वेलरी, आकर्षक बेल्‍ट, हैंडबैग, फुटवियर, घडी, स्‍कार्फ आदि का इस्‍तेमाल करते है। ये सभी आइटम्‍स लाइफस्‍टाइल एक्‍सेसरीज के अंतर्गत आते है। आधुनिक युग में फैशन सिर्फ खूबसूरत परिधानों तक ही सीमित नही रहा। इनमें एक्‍सेसरीज भी महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते है। आज खूबसूरत और स्‍टाइलिश दिखाना है, तो बिना एक्‍सेसरीज के बात नहीं बनती। आकर्षण एक्‍सेसरीज को डिजाइन करते है एक्‍सेसरीज डिजाइनर्स। आपने देखा होगा कि रिटेल सेक्‍शन की शॉपिंग के तहत सबसे अधिक जगह में एक्‍सेसरीज को ही डिस्‍प्‍ले  किया जाता है। इसी बात से एक्‍सेसरीज डिजाइनिंग के क्षेत्र के महत्‍व को समझा जा सकता है। हालांकि इस क्षेत्र में वे ही कामयाब हो सकते है, जो बेहद क्रिएटिव हों। ऐसा इसलिए, क्‍योकि फैशन और स्‍टाइल आए दिन बदलते रहते है, इसलिए यहां जितने नए आइडियान के साथ मार्केट में उतरेगें, उतनी ही आपके भविष्‍य को ऊचाई मिलेगी।

कोर्स और शैक्षणिक योग्‍यता

भारत में एक्‍सेसरी और लाइफस्‍टाइल प्रोडक्‍ट्स, क्राफ्ट्स और एक्‍सेसरीज डिजाइनिंग में कई तरह के पूर्वस्‍नातक, एडवांस डिप्‍लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स उपलब्‍ध है। कुछ शॉर्ट-टर्म कोर्सेज भी कई संस्‍थान करवाते है, जिसे करने के बाद आप एक्‍सेसरी स्‍टाइलिस्‍ट, मर्चेडाइजर या प्रोडक्‍शन अस्सिटेंट के तौर पर इस क्षेत्र में अपना करियर संवार सकते है। इनमें से किसी भी कोर्स में दाखिल लेने के लिए किसी भी संकाय(स्‍ट्रीम) से शैक्षणिक योग्‍यता 10+2 उत्‍तीर्ण होना अनिवार्य है। सभी कोर्स की अवधि अलग-अलग संस्‍थानों में 1 से 4 वर्ष होती है। इन कोर्सेज में यदि आप दाखिला चाहते है, तो लाइफस्‍टाइल एक्‍सेसरीज डिजाइनिंग में अपने बेसिक स्किल्‍स को बेहतर करने के साथ ही इससे संबंधित प्रक्रियाओं और नियमों को समझने से लाभ होता है।

अवसरों की भरमार

कोर्स करने के बाद आप कॉस्‍टयूम, ज्‍वेलरी, लेदरवेयर, स्‍कार्फ, घडी, ग्‍लास प्रोडक्‍ट्स, फुटवेयर, गिफ्टवेयर, टेबलवेयर, सिल्‍वरवेयर आदि इंडस्‍ट्रीज में काम करने का मौका पा सकते है। पढाई के दौरान एक्‍सेसरी डिजाइनिंग में डिजाइनिंग से संबंधित काफी विस्‍तृत जानकारी दी जाती है। इसमें कोई भी किसी एक विशेष एरिया को चुनकर, उसमें अपने करियर को एक्‍सप्‍लोर कर सकता है। ट्रेंड प्रोफेशनल्‍स को विभिन्‍न एक्‍सेसरीज निर्माता कंपनियों में काम मिल सकता है। जॉब नही करना चाहते, तो आप बतौर फ्रीलांसर भी इसमें हाथ आजमा सकते है। अनुभव के बाद आप लघु उद्योग शुरू कर सकते है। शोरूम खोल सकते है।

क्‍या बन सकते है

बडे-बडे फर्म्‍स में आपकी नियुक्ति बतौर स्‍टाफ डिजाइनर या फ्रीलांस डिजाइनर के रूप में ही हो सकती है। छोटे वर्कशॉप और फर्म्‍स, जो आमतौर पर नामी फैशन हाउस, होलसेलर्स या रिटेल आउटलेट से मिलने वाले ऑर्डर के लिए काम करते है, वहां भी आप बतौर एक्‍सेसरीज डिजाइनर के रूप में अच्‍छी सैलरी पर नौकरी पा सकते है।

क्‍या हो खासियत

यदि आपके अंदर हमेशा कुछ नया और लीक से हटकर करने की चाहत है, तो आप इसी क्षेत्र में काम करने के लिए बने है। डिजाइन एप्‍टीटयूड के अतिरिक्‍त आप में कंप्‍यूटर एंड मैटीरियल नॉलेज भी होना चाहीए। डिजाइनिंग की जितनी बेहतर बारीकियां आप जानेंगे, इस फील्‍ड में आपको उतने ही अच्‍छे मौके मिलेंगे। यदि आपके अंदर धैर्य, दृढ-इच्‍छाशक्ति, बेहतर संवाद और रचनात्‍मक स्किल है, तो इस इंडस्‍ट्री में आपको कामयाब होने से कोई नहीं रोक सकता है।

शुरूआती कमाई

15-20 हजार रूपये शुरूआती में प्रतिमाह वेतन मिल जाता है।
25-30 हजार रूपये बडे फर्म के साथ काम करने पर सैलरी मिलती है।
एक कामयाब एक्‍सेसरी डिजाइनर बनने के लिए आपका रचनात्‍मक होना बेहद जरूरी है।


यहां से करें कोर्स

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फैशन टेक्‍नोलॉजी,दिल्‍ली, मुंबई, हैदराबाद, बंगलूरू आदि,
एफडीडीआई, नोएडा,
www.fddiindia.com
नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन, गांधीनगर,
www..nid.edu
इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ क्राफ्ट एंड डिजाइन, जयपुर
www.iicd.ac.in
पर्ल एकेडमी ऑफ फैशन, दिल्‍ली
pearlacademy.com      

कितनी हो कमाई

लाइफस्‍टाइल एक्‍सेसरी डिजाइनिंग में नाम, शेहरत और पैसों की कोई कमी नही है। कोर्स करने के बाद फ्रेश ग्रेजुएट्सइस क्षेत्र में 15 से 20 हजार कमा सकते है। वेतन कंपनी और वहां पर मिलने वाले कार्यभार पर भी निर्भर करता है। इस क्षेत्र से संबंधित एक्‍सपोर्ट हाउस और मल्‍टीनेशनल कंपनियां अच्‍छी सैलरी के साथ-साथ कई तरह के पर्क्‍स और इन्‍सेंटिव्‍स भी देते है। खुद का काम करते है, तो कमाई आपकी बिजनेस के विस्‍तार और योग्‍यता पर भी निर्भर करती है। आप जितने भी नए आइडिया के साथ एक्‍सेसरीज से संबंधित प्रोडक्‍ट्स को डिजाइन करेंगे, बाजार में उतनी ही आपके प्रोडक्‍ट्स की मांग बढेगी। आप अपने प्रोडक्‍ट्स को ट्रेड फेयर और एक्जिवशिन के जरिए भी लोंगो के सामने ला सकते है। 
Accessory Fashion Designer Career In Hindi Accessory Fashion Designer Career In Hindi Reviewed by Shubham Chauhan on 1:14 pm Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.